PRAGATISHIL CLASSES, JE कैसे बनें ?, How to Become a JE ?, JE (Junior Engineer) kaise bane ?, junior engineer kaise bane in hindi, जूनियर इंजीनियर के कार्य, जूनियर इंजीनियर सैलरी, जूनियर इंजीनियर के लिए योग्यता, जूनियर इंजीनियर के full form,
PRAGATISHIL CLASSES

JE कैसे बनें ? How to Become a JE ? JE (Junior Engineer) kaise bane ? पूरी जानकारी इन हिन्दी

दोस्तों,
आज मै आपको बताने बाला हूँ JE कैसे बने मतलब How to Become a Junior Engineer ?  JE का  पद Group C में आता है, जो की एक Government Post है। बहुत से स्टूडेंट का सपना होता है की वे इंजिनियर बने लकिन आप इंजिनियर न बनकर अगर आप Junior Engineer भी बन जाते है तो भी बड़ी बात है। 

दोस्तों, JE (Junior Engineer) कैसे बने इसे Point By Point समझते है ?

S.N. JE (Junior Engineer) 
1.  JE क्या होता है।
2.  JE कौन बन सकता हैं।
3.  JE का कार्य क्या होता हैं।
4.  QUALIFICATION क्या चाहिए ।
5.  JE के लिए EXAM कौन सा देना होगा ?
6.  उम्र सीमा कितनी है ?
7. सिलेबस क्या है ?
8.  स्कोप कितनी है ?
9.  जॉइनिंग कहां मिलती है।
10.  सैलरी कितनी मिलती है।

The Full Form Of JE ⇒ JUNIOR ENGINEER

1. JE क्या होता है।
JE का पूरा नाम JUNIOR ENGINEER जिसे हिंदी में कनिष्क अभ्यंता कहते हैं।
जैसा नाम से स्पष्ट है की यह एक Engineer का पोस्ट है। यानी तकनीकी र्काय का संपादन इनके द्वारा होता है। यह आपने अंडर वर्क करने वाले का Data तैयार करते हुए वे आगे आपने Senior तक Forward करते हैं। JE क्या होता है इसे आप साधारण भाषा में इस तरह समझ सकते हैं की यह किसी भी Department का वह पोस्ट होता है जो Technically मदद करते हुए से उसे आगे ले ले जाते हैं ।

Join Telegram

2. JE कौन बन सकता हैं।
JE वैसे STUDENT बन सकते हैं जो Engineering का DIPLOMA या Degree Course किया हुआ हो। आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि Engineering की कौन सी Degree और कौन सा DIPLOMA Course करने के बाद JE बन सकते हैं। चलो इसका भी Answer दे देते हैं। इसमें वैसे सभी Student JE बन सकते हैं। जो POLYTECHNIC से Engineering की DIPLOMA Course किए हो या Engineering का Degree Course किए हो वह सभी छात्र JE बने सकते हैं।

3. JE का कार्य क्या होता हैं।
JE एक ऐसा पोस्ट हैं जिसके नाम के आगे भले ही Junior शब्द लगा हो इनका कार्य बहुत बड़ा और जिम्मेदारी भरा होता हैं। ये जिस विभाग में होते हैं उस विभाग का ये एक मजबूत हिस्सा होते हैं। इनका कार्य बेहद खास और महत्वपूर्ण होता है। यह सार्वजनिक कार्यों और परियोजनाओं को योजना बनने से संबंधित डिजाइन और निर्माण करने का कार्य करते हैं। जब भी किसी भी विभाग में ज्वाइन करते हैं तो इनके कंधे पर उस विभाग के एक Section का जिम्मेदारी होता है। जिसके तहत अपने अंडर कार्य कर रहे कर्मियों के द्वारा किए गए कार्य का Superviser करते हैं। और आगे के कार्य पालन किस तरह हो उसके लिए उनके बीच कार्यों का Aolltment भी करते हैं। साथ ही कई तरह की योजनाओं को बनाते हैं। जिससे कार्य का पालन समय पर हो और अच्छी तरह से हो सके। 

4. QUALIFICATION क्या चाहिए ।
JE बनने के लिए आप Engineering में DIPLOMA या Degree की जरूरत पड़ती है। आप जिस भी State की DIPLOMA या Degree करते हैं आप उन सभी से Engineering बन सकते हैं। जैसा अगर आप सिविल से Engineering Degree या DIPLOMA करते हैं तो  भी आप JE बन सकते हैं। या फिर अगर आप Electrical या Electronics से Engineering करते हैं तब भी आप JE बन सकते हैं। कुल मिलाकर आप यह समझिए कि अगर आप Engineering का Course करते हैंतो आप JE बनने का रास्ता खुल जाता है। जिसके बाद आप JUNIOR ENGINEERING बन सकते हैं। 

5. JE के लिए EXAM कौन सा देना होगा ?
JE एक ऐसा पोस्ट है जो लगभग हर विभाग में आपको देखने और सुनने के लिए मिल जाएगा। इसलिए के लिए Requirement के लिए कोई एक परीक्षा के नाम ले तो वह सही नहीं होगा। क्योंकि हर विभाग आपने अस्तर से इसकी Requirement निकालती है। जिसकी परीक्षा को Qualify करने के बाद आप उस विभाग में JE को पद पर Joining कर सकते हैं। जैसे रेलवे Acquainted Board की परीक्षा पास करके रेलवे में JUNIOR ENGINEER बन सकते हैं SSC के द्वारा आयोजित होने वाली SSC JE Exam पास करके आप भारत सरकार के अंतर्गत आने वाले विभिन्न विभागों में जो JUNIOR ENGINEER के रूप में Join कर सकते हैं । इसी तरह आप State level पर होने वाली JE की परीक्षा देकर राज्य में विभिन्न विभागों में JE बन सकते हैं। इन परीक्षाओं के अलावा भी कई विभाग अपनी स्तर से भी JE के Requirement निकालती है जिसमें Qualify होकर आप उस विभाग में भी Join कर सकते हैं ।

6. उम्र सीमा कितनी है ?
SSC के द्वारा JE की जो परीक्षा ली जाती है । उसमें उम्र सीमा 18 वर्ष से 32 वर्ष रखी गई है ।

  • SC/ST उम्मीदवार को उम्र सीमा में 5 वर्ष की छूट दी जाती है वहीं
  • OBC कैटेगरी के कैंडिडेट को 3 वर्ष की जबकि
  • PwD को 10 वर्ष का तथा
  • PwD OBC को 13 वर्ष एवं
  • PwD SC/ST को 15 वर्ष की छूट मिलती है।

7. सिलेबस क्या है ?
किसी भी एग्जाम को पास करने के लिए उसके सिलेबस को अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए क्योंकि सिलेबस को समझकर ही आप Qualify कर पाएंगे। सिलेबस की जानकारी से पहले आपको यह बता दूं कि JE की परीक्षा कई Department अपने स्तर से हि लेती है इसलिए हो सकता है कि दूसरे विभाग की सिलेबस थोड़ी Difference हो सकती है। यहाँ पर मै आपको SSC के द्वारा JE का लिए लिया जाने वाला एग्जाम का सिलेबस बता रहा हूं।

  • JE कि परीक्षा दो पार्ट में होती है ।
  • Paper 1 और Paper 2 के रूप में
  • Paper 1 में ऑब्जेक्टिव टाइप के क्वेश्चन होते हैं।
  • वहीं पेपर 2 में डिस्क्रिप्टिव टाइप के क्वेश्चन पूछे जाते हैं।
  • दोनों पेपर के टाइम 2-2 घंटे का होता है।

पेपर 1 में,
(1) General Intelligence & Reasoning
(2) General Awareness
(3) General Engineering (Civil and Structural) , (Electrical & Mechanical) आता हैं।

पेपर 2 में ,
PART (A) – Civil & Structural Engineering
PART (B) – Electrical Engineering
PART (C) – Mechanical Engineering होता है।

8. स्कोप कितनी है ?
यह एक ऐसा फील्ड है जिसमें की स्कोप की अपार संभावना हैं। हकीकत यह भी है की जितना Competition दूसरे क्षेत्र में है उतना इस में नहीं है क्योंकि JUNIOR ENGINEER बने के लिए जो Vacancy निकलती है। उसमें हर कोई Apply नहीं कर सकता है। इसमें सिर्फ वही Apply कर सकता है जो इसकी पढ़ाई की हुई हो यानी इस फील्ड में जॉब की पूरी गारंटी नहीं है।

9. Joining कहाँ मिलती है ?
JUNIOR ENGINEER की Requirement, Central Government से लेकर State Government के अलग-अलग Department मे निकलती है।
जैसे-
रेलवे विभाग
बिजली विभाग
पथ निर्माण विभाग
भवन निर्माण विभाग
योजना एवं विकास विभाग
जल संसाधन विभाग
लोक स्वास्थय अभियंत्रण विभाग
ग्रामीण विकास विभाग
नगर विकास एवं आवास विभाग इत्यादि
अगर आप निजी क्षेत्र में Join करना चाहते हैं तो भी वहां बहुत संभावना है  जैसे- GEL WELL, INDIAN OIL में भी इसकी जरूरत होती है। इतनी ही नहीं Private Company जैसे- RELIANCE , TATA MOTORS में JE की Requirement निकलती है।

10. सैलरी कितनी मिलती है ?
SSC के माध्यम से जो छात्र JUNIOR ENGINEER के पोस्ट पर Join करते हैं उनको ₹40000 से ज्यादा अधिक सैलरी के रूप में मिलती है साथ ही उनको महंगाई भत्ता मतलब DA, DNS All Owners चिकित्सा भत्ता, How to Select Allowance, परिवहन भत्ता, के साथ अन्य विशेष भात्तियाँ भी मिलती है।

By – PRAGATISHIL CLASSES

यह भी पढ़े : 

1. What is BPSC Exam? || BPSC Crack कैसे करें ? 

2. CSAT kya hota hai full information in Hindi | what is upsc CSAT | syllabus | qualifying marks 

3. कंप्यूटर से संबंधित 50 महत्वपूर्ण Full Form | Computer Related full form 

4. गोवा के 10 प्रसिद्ध पर्यटक स्थल | 10 Best Places To Visit In GOA 

5. Merchant Navy क्या है ? | How to Join Merchant Navy 

Leave a Reply

Your email address will not be published.