आनुवांशिकता एवं जैव विकास (लघु उत्तरीय प्रश्न) Subjective Question Answer 2023, Class 10th Science Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Ka Subjective Question Answer 2023, Class 10th Science (Biology) Chapter -4 Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Subjective Question Answer,  जिव-विज्ञान पाठ-4 आनुवांशिकता एवं जैव विकास का सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर, आनुवांशिकता एवं जैव विकास दीर्घ उत्तरीय प्रश्न उत्तर pdf, Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Subjective Question Answer 2023, Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Subjective Question Answer Class 10th Science Matric Exam 2023, Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas class 10th Subjective question answer pdf download, B.S.E.B Class 10th Biology Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Subjective Question 2023, pragatishil classes, Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas short question answer
Class 10th Science Subjective Question

आनुवांशिकता एवं जैव विकास (लघु उत्तरीय प्रश्न) Subjective Question Answer 2023 || Class 10th Science Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Ka Subjective Question Answer 2023

दोस्तों अगर आप लोग बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा 2023 की तैयारी कर रहे हैं और क्लास 10th साइंस का ऑब्जेक्टिव सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर पढ़ना चाहते हैं तो यहां पर आपको क्लास 10th साइंस (जीव विज्ञान) का जैव प्रक्रम का लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर यहां पर दिया गया है तथा अगर आप लोग Biology ka Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas दीर्घ उत्तरीय सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर पढ़ना चाहते हैं तथा आनुवांशिकता एवं जैव विकास का ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर पढ़ना चाहते हैं तो लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं और मैट्रिक परीक्षा 2023 की तैयारी अच्छे से करना चाहते हैं तो यहां पर आप लोगों को क्लास 10th का साइंस का ऑनलाइन टेस्ट तथा क्लास 10th साइंस का मॉडल पेपर दिया गया है तो इसे आप लोग लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं-

Join Telegram
S.N Science (विज्ञान) 📒
1. Physics (भौतिक बिज्ञान) Guess Paper
2. Chemistry (रसायन शास्त्र) Guess Paper
3. Biology (जिव-विज्ञान) Guess Paper

आनुवांशिकता एवं जैव विकास (लघु उत्तरीय प्रश्न) Subjective Question Answer 2023

लघु उत्तरीय प्रश्न

1. उपार्जित लक्षण किसे कहते हैं ?

उत्तर पर्यावरण के सीधे प्रभाव से या अंगों के कम या अधिक उपयोग के कारण जीवों के शरीर में जो परिवर्तन होते हैं, उन्हें उपार्जित लक्षण कहते हैं।


2. विभिन्नताओं के उत्पन्न होने से किसी स्पीशीज का अस्तित्व किस प्रकार बढ़ जाता है ?

उत्तर किसी स्पीशीज में इन सभी विभिन्नताओं के साथ अपने अस्तित्व में रहने की सम्भावना एक समान है। प्रकृति की विविधता के आधार पर विभिन्न जीवों को विभिन्न प्रकार के लाभ हो सकते हैं। ऊष्णता को सहन करने की क्षमतावाले जीवाणुओं को अधिक गर्मी से बचने की संभावना अधिक होती है। पर्यावरण कारकों द्वारा उत्तम परिवर्तन का चयन जैव विकास प्रक्रम का आधार बनाता है।


3. बाधों की संख्या में कमी आनुवंशिकता के दृष्टिकोण से चिंता का विषय क्यों हैं ?

उत्तर आनुवंशिकता के दृष्टिकोण से बाघों की संख्या में कमी उनमें जीन की आवृत्ति को प्रभावित कर सकती है जिसके परिणामस्वरूप उनकी उत्तरजीविता भी प्रभावित हो सकती है। हो सकता है कि वे कालांतर में विलुप्त हो जाएँ।


4. जैव विकास तथा वर्गीकरण का अध्ययन क्षेत्र किस प्रकार परस्पर संबंधित हैं ?

उत्तर पदानुक्रमण में जीवों के वर्गीकरण का आधार उनके गुणों में समानता एवं असमानताएँ होती हैं। वर्गीकरण से यह स्पष्ट पता चलता है कि जैविक विकास के आधार पर जीवों के विभिन्न वर्गीकृत समूह एक-दूसरे से किस प्रकार संबंधित हैं। अतः जीवों का वर्गीकरण उनके विकास के संबंधों का प्रतिबिंब होता है। इसलिए जैव विकास तथा वर्गीकरण का अध्ययन क्षेत्र संबंधित है। अत: जीवों का वर्गीकरण उनके विकास के संबंधों का प्रतिबिंब होता है। इसलिए जैव विकास तथा वर्गीकरण का अध्ययन क्षेत्र संबंधित है।


5. आनुवंशिकता एवं विभिन्नता में क्या अंतर है ?

उत्तर एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में जीवों में मूल लक्षणों का संचरण आनुवंशिकता कहलाता है। यह संचरण एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में जनकों के युग्मकों के द्वारा होता है। एक ही प्रकार के जनक से उत्पन्न विभिन्न संतानों में कुछ-न-कुछ अंतर निश्चित रूप से पाया जाता है। एक ही जाति के विभिन्न सदस्यों में पाए जाने वाले इन्ही अंतरों को विभिन्नता कहते हैं।


Class 10th Science Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Ka Subjective Question Answer 2023

6. जैव विकास का क्या तात्पर्य है ?

उत्तर अनेक प्रमाणों के आधार पर वैज्ञानिकों ने यह निष्कर्ष निकाला कि पृथ्वी पर वर्तमान जटिल प्राणियों का विकास प्रारंभ में पाए जाने वाले सरल प्राणियों में परितस्थिति और वातावरण के अनुसार होने वाले परिवर्तनों के कारण हुआ। सजीव जगत में होने वाले इस परिवर्तन को जैव विकास कहते हैं।


7. जीनकोश क्या है ?

उत्तर किसी विशेष प्रजाति के एक समष्टि आबादी में स्थित समस्त जीन उस आबादी का जीनकोश कहलाता है। वातावरण के प्रभावों से इनमें कुछ बदलाव आते हैं।


8. आण्विक जातिवृत्त क्या है ?

उत्तर मानव-सहित विभिन्न जीवों के पूर्वजों की खोज उनके DNA में हुए परिवर्तन का अध्ययन कर किया जा सकता है। DNA में परिवर्तन का अर्थ उसके प्रोटीन अनुक्रम में परिवर्तन से है। DNA अनुक्रम के तुलनात्मक अध्ययन द्वारा किसी जीव के पूर्वजों की खोज आण्विक जातिवृत्त (molecular phylogony) कहलाता है।


9. जीवाश्म क्या हैं? वे जैव विकास प्रक्रम के विषय में क्या दर्शाते हैं ?

उत्तरसामान्यतः जीवों की मृत्यु के बाद उनके शरीर का अपघटन हो जाता है, परंतु कुछ जीव या जीवों के भाग ऐसे वातावरण में चले जाते हैं कि इनका अपघटन पूरी तरह नही हो पाता। इनके अवशेष चिन्ह पृथ्वी के भीतर या चट्टानों पर पाए जाते हैं। पत्थरों पर जीवों के ऐसे चिन्हों को जीवाश्म कहते हैं। जीवाश्मों के अध्ययन से जैव विकास के प्रमाण मिलते हैं। उदाहरण के तौर पर आर्कियोप्टोरिक्स एक ऐसा जीवाश्म है, जिसमें रेप्टीलिया तथा एवीज दोनों के गुण पाए जाते हैं। इसके अध्ययन से इस बात की पुष्टि होती है कि रेप्टीलिया तथा एवीज का विकास एक ही पूर्वज से हुआ है।


class 10th Science (Biology) Chapter -4 Aanuvaanshikata evan Jaiv Vikaas Subjective Question Answer

10. वे कौन-से कारक हैं, जो नई स्पीशीज के उद्भव में सहायक हैं ?

उत्तर नई स्पीशीज के उद्भव में निम्न कारण सहायक होते हैं –
(i) भौगोलिक पृथक्करण
(ii) आनुवंशिक विचलन
(iii) प्राकृतिक चयन द्वारा उत्पन्न भिन्नता
(iv) DNA जैसे गुणसूत्रों की संख्या में परिवर्तन।


11. यदि एक ‘लक्षण A’ अलैंगिक प्रजनन वाली समष्टि के 10% सदस्यों में पाया जाता है तथा ‘लक्षण B’ उसी समष्टि में 60% जीवों में पाया जाता है, तो कौन-सा लक्षण पहले उत्पन्न हुआ होगा ?

उत्तरपहली पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में कुछ नई विभिन्नताएँ पायी जाती है। इसलिए लक्षण A पहले उत्पन्न हुआ होगा। यदि ये नई विभिन्नताएँ वातावरण के अनुकूल होती हैं तो उनकी संख्या समष्टि में बढ़ जाता है।


12. कुत्ते की खाल का प्रभावी रंग ज्ञात करने के उद्देश्य से एक प्रोजेक्ट बनाइए।

उत्तर सबसे पहले एक शुद्ध काली खाल वाले कुत्ते (BB) तथा एक शुद्ध सफेद खाल वादी मादा कुत्ते (WW) का चयन लिया जाता है। समय पर उनका संकरण कराया जाता है। यदि उनमें उत्पन्न सभी संतान काली खाल वाले हैं तो काली खाल का लक्षण प्रभावी कहलाएगा।
          नर कुत्ता                  मादा कुतिया
(काली खाल)BB        X      WW (सफेद खाल)

               F, संतान BW सभी काली खाल वाले


13. क्या तितली और चमगादड़ के पंखों को समजात अंग कहा जा सकता है? क्यों अथवा क्यों नहीं ?

उत्तर तितली तथा चमगादड़ के पंखों का कार्य समान है अर्थात उड़ने का परन्तु इनकी उत्पत्ति भिन्न है इसलिए इसे समजात अंग नहीं कह सकते हैं ये असमताज अंग है।


14. समजात एवं असमजात अंग से क्या समझते हैं ?

उत्तर विभिन्न वातावरण में रहने वाले जंतुओं के ऐसे अंग जो संरचना एवं उत्पत्ति के दृष्टिकोण से एकसमान होते हुए भी कार्य में भिन्न-भिन्न होते हैं, उन्हें समजात अंग कहते हैं जैसे मेढक एवं पक्षी के अग्रपाद, रचना एवं उत्पत्ति में समान होते हुए भी मेढक में कूदने एवं पक्षियों में उड़ने का कार्य करते हैं। इसके विपरीत जंतुओं के ऐसे अंग जो रचना एवं उत्पत्ति के दृष्टिकोण में एक-दूसरे से भिन्न होते हुए भी एक समान कार्य करते हैं, इन्हें असमजात अंग कहते हैं, जैसे- तितली तथा पक्षी के पंख।


15. विकास के आधार पर क्या आप बता सकते हैं कि जीवाणु मकड़ी, मछली तथा चिम्पैंजी में किसका शारीरिक अभिकल्प उत्तम है ? अपने उत्तर की व्याख्या करें

उत्तर विकास के आधार पर जीवाणुओं का शरीरिक अभिकल्प उत्तम है, क्योंकि ये अत्यंत प्राचीन एवं सरल होते हुए भी मकडी, मछली तथा चिम्पेंजी की तुलना में इनमें अनुकूलन क्षमता अधिक होती है जिसके कारण ये विभिन्न वातावरण जैसे गर्म झरने, गहरे समुद्र तथा ध्रुवीय हिम में भी सफलतापूर्वक जीने के लिए अनुकूलित होते हैं।


16. क्या भौगोलिक पृथक्करण अलैंगिक जनन वाले जीवों को जाति उद्भव का प्रमुख कारण हो सकता है? क्यों अथवा क्यों नही?

उत्तर भौगोलिक पृथक्करण अलैंगिक जनन जीवों के जाति उद्भव का प्रमुख कारक नहीं हो सकता है क्योंकि अलैंगिक जनन द्वारा उत्पन्न संतति में परस्पर बहुत कम अन्तर होता है, परन्तु समानता बहुत अधिक होती है। जो थोड़ी-बहुत विविधता होती भी है वह DNA प्रतिकृति के समय न्यून त्रुटियों के कारण होती है। ये नई विभिन्नताएँ इतनी मुख्य नही है जिससे किसी नई जाति का उद्भव हो सके।


17. उन अभिलक्षणों का एक उदाहरण दीजिए जिनका उपयोग हम दो स्पीशीज के विकासीय संबंध निर्धारण के लिए करते हैं।

उत्तर सभी कशेरूकी जीवों में पादों की आधारभूत संरचना एक समान होती है। समजात अभिलक्षण से भिन्न दिखाई देने वाली विभिन्न स्पीशीज के बीच विकासीय सम्बन्ध की पहचान करने में सहायता मिलती है। जैसे मेढक, छिपकली, पक्षी तथा मनुष्य के अग्र पादों की आधारभूत संरचना एक समान है। यद्यपि विभिन्न कशेरू की जीवों में भिन्न-भिन्न कार्य करने के लिए बदलाव होते रहता है।


18. एक ‘A-रूधिर वर्ग’ वाला पुरूष एक स्त्री जिसका रूधिर वर्ग ‘O’ है, से विवाह करता है। उनकी पुत्री का रूधिर वर्ग ‘O’ है। क्या यह सूचना पर्याप्त है यदि आपसे कहा जाए कि कौन-सा विकल्प लक्षण-रूधिर वर्ग-‘A’ अथवा ‘O’ प्रभावी लक्षण है ? अपने उत्तर का स्पष्टीकरण दीजिए।

उत्तर यह सूचना पर्याप्त नही है क्योंकि इस सूचना से इस बात का पता नहीं चलता है कि पिता में AB जीन है या AO जीन है। पहले के आधार पर हम कह सकते हैं कि A लक्षण अधिक प्रभावी है तथा पिता में AO को जोड़ा होगा और माता मेंOO होगा जबकि OO जीन पुत्री में होगा।


जिव-विज्ञान पाठ-4 आनुवांशिकता एवं जैव विकास का सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर

19. एक एकल जीव द्वारा उपार्जित लक्षण सामान्यतः अगली पीढ़ी में वंशानुगत नहीं होते। क्यों

उत्तर एकल जीव द्वारा उपर्जित लक्षण का प्रभाव कायिक ऊतकों पर पड़ता है, लेकिन अर्जित लक्षण अनुभव का जनन कोशिकाओं के DNA पर नहीं निर्भर करता। इसलिए . ये लक्षण वंशानुगत नहीं होते हैं।


20. केवल वे विभिन्नताएँ, जो किसी एकल जीव (व्यष्टि) के लिए उपयोगी होती हैं समष्टि में अपना अस्तित्व बनाए रखती हैं। क्या आप इस कथन से सहमत हैं? क्यों एवं क्यों नहीं ?

उत्तर हाँ, हम इस कथन से सहमत हैं, कारण कि जो विभिन्नताएँ एकल जीव के लिए उपयोगी हैं वे वर्तमान पर्यावरण के अनुकूल हैं और प्राकृतिक चयन प्रक्रम में वे अपना अस्तित्व बनाये रख सकती है। इसका मतलब कि समय के साथ-साथ इस भिन्नताओं वाले जीव समष्टि में प्रमुख हो जाएँगे क्योंकि इनका लक्षण परिवर्तित पर्यावरण में जीवित रह सकते हैं। अतः ये समष्टि में अपना अस्तित्व बनाए रख सकते हैं।


21. अलैंगिक जनन की अपेक्षा लैंगिक जनन द्वारा उत्पन्न विभिन्नताएँ अधिक स्थायी होती हैं, व्याख्या कीजिए। यह लैंगिक प्रजनन करने वाले जीवों के विकास को किस प्रकार प्रभावित करता है ?

उत्तर अलैंगिक जनन में केवल एक जीव जनन करता है। अतः संतति में विभिन्नता तभी आती है जब DNA में कम त्रुटियाँ होती हैं। लैंगिक जनन में दो जनक होते हैं जो DNA का एक-एक सेट संतति को प्रदान करते हैं। इससे संतति में भिन्न-भिन्न लक्षणों का समावेश होता है। अलैंगिक जनन से लैंगिक जनन में विविधता अपेक्षाकृत अधिक होती है। लैंगिक जनन से उत्पन्न विभिन्नताओं में जीन के DNA में परिवर्तन के कारण होती है। अतः ये स्थिर होती है और एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थानांतरित होती है। प्राकृतिक चयन के कारण वही विभिन्नताएँ प्रगति करती है, जो पर्यावरण के अनुकूल हों।


Class 10th Science ( Biology) Subjective Question 2023 ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) 

जीव विज्ञान ( BIOLOGY ) लघु उत्तरीय प्रश्न
1. जैव प्रक्रम
2. नियंत्रण एवं समन्वय
3. जीव जनन कैसे करते हैं
4. अनुवांशिकता एवं जैव विकास
5. हमारा पर्यावरण
6. प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन

Class 10th Science( Biology) Subjective Question 2023 ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ) 

S.N Class 10th Biology (जीव विज्ञान दीर्घ उत्तरीय प्रश्न) Question 2023
1. जैव प्रक्रम
2. नियंत्रण एवं समन्वय
3. जीव जनन कैसे करते हैं
4. अनुवांशिकता एवं जैव विकास
5. हमारा पर्यावरण
6. प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन

Leave a Reply

Your email address will not be published.