नौबतखाने में इबादत Subjective Question Answer 2023, नौबतखाने में इबादत Subjective Question Answer, Class 10th Hindi Subjective Question Answer, नौबतखाने में इबादत का सारांश, नौबतखाने में इबादत ncert solutions, नौबतखाने में इबादत प्रश्न उत्तर class 10, नौबतखाने में इबादत प्रश्न उत्तर class 10 pdf, नौबतखाने में इबादत Subjective question, सब्जेक्टिव क्वेश्चन नौबतखाने में इबादत, नौबतखाने में इबादत प्रश्न उत्तर, नौबतखाने में इबादत ka question answer, नौबतखाने में इबादत सब्जेक्टिव क्वेश्चन, नौबतखाने में इबादत SUBJECTIVE, कक्षा 10 वी हिंदी नौबतखाने में इबादत सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर 2023, class 10th नौबतखाने में इबादत ka Subjective question answer 2023, Matric exam 2023 ka Hindi subjective question answer, नौबतखाने में इबादत ka Subjective question answer class 10 2023, कक्षा 10 नौबतखाने में इबादत का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर 2023, Nauvatkhane me Ibadat Subjective question answer 2023, Nauvatkhane me Ibadat prshn uttr 2023, Nauvatkhane me Ibadat  subjective question, Nauvatkhane me Ibadat ka subjective question answer 2023
Class 10th Hindi Subjective Question

पाठ-11 नौबतखाने में इबादत ( गोधूलि भाग-2 गध खंड ) Subjective Question 2023 || Naubatkhane me Ibadat Subjective Question Answer 2023

दोस्तों यहां पर आपको कक्षा दसवीं हिंदी गोधूलि भाग 2 बिहार बोर्ड के लिए नौबतखाने में इबादत पाठ का सब्जेक्टिव प्रश्न दिया गया है। जो मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है ।और यहाँ पर Naubatkhane me Ibadat का Objective Question Answer दिया गया है। जिसे आप आसानी से पढ़ सकते है

नौबतखाने में इबादत Subjective Question Answer 2023

1. डुमराँव की महत्ता किस कारण से है ?

उत्तर ⇒ डुमराँव में प्रसिद्ध शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्ला खाँ का जन्म हुआ था। डुमराँव से ही बिस्मिल्ला के पिता, दादा और परदादा का संबंध था। इसके साथ ही यहाँ नरकट घास भी मिलती थी, जिससे शहनाई बनती है। इन कारणों से ही
डुमराँव की महत्ता है।

Join Telegram

2. सुषिर वाद्य किन्हें कहते हैं। शहनाई’ शब्द की व्युत्पत्ति किस प्रकार हुई है ?

उत्तर ⇒ संगीत शास्त्रांतर्गत फंककर बजाए जाने वाले वाद्यों को सुषिर वाद्य कहते हैं। अरब देशों में शहनाई को शाहनेय अर्थात सुषिर वाद्यों में शाह कहा गया, जिसके फलस्वरूप शहनाई शब्द की व्युत्पत्ति हुई।

3. बिस्मिल्ला खाँ सजदे में किस चीज के लिए गिड़गिड़ाते थे ? इससे उनके व्यक्तित्व का कौन-सा पक्ष उद्घाटित होता है ?

उत्तर ⇒ बिस्मिल्ला खाँ सजदे में सुर पाने के लिए गिड़गिड़ाते थे। इससे उनके सहज, सरल और अपने को अपूर्ण मानने वाला व्यक्तित्व का पता चलता है।

4. मुहर्रम पर्व से बिस्मिल्ला खाँ के जुड़ाव का परिचय पाठ के आधार पर दें।

उत्तर ⇒ मुहर्रम के दिनों में बिस्मिल्ला खाँ साहब पूरे महीने संगीत से दूर रहते थे। मुहर्रम की आठ तारीख को दालमंडी से फातमान तक आठ किलोमीटर पैदल शोकं का राग नौहा बजाते हुए जाते थे। इस दौरान इमाम हुसैन और उनके परिवार की शहादत को याद करते हुए आँखें नम हो जाती थीं। इस तरह मुहर्रम के पर्व से बिस्मिल्ला खाँ का विशेष जुड़ाव था।

Nauvatkhane me Ibadat ka subjective question answer 2023

5. ‘संगीतमय कचौड़ी’ का आप क्या अर्थ समझते हैं ?

उत्तर ⇒ उस्ताद बिस्मिल्ला खाँ साहब कुलसुम की कचौड़ी के शैकीन थे। कुलसुम जब कलकलाते घी में कचौड़ी डालती थी तो उससे उठने वाली आवाज खाँ साहब को संगीत की ध्वनि लगती थी। इसलिए उन्होंने कुलसुम की कचौड़ी को ‘संगीतमय कचौड़ी’ कहा।

6. बिस्मिल्ला खाँ जब काशी से बाहर प्रदर्शन करते थे तो क्या करते थे ? इससे हमें क्या सीख मिलती है ?

उत्तर ⇒ बिस्मिल्ला खाँ जब काशी से बाहर प्रदर्शन करते थे तो सबस पहले काशी विश्वनाथ और बालाजी की तरफ मुख करके
दोनों का नाम लेकर शहनाई बजाते थे। इससे यह पता चलता है कि सभी धर्मों का सम्मान करते थे और सदभावना और
सर्वधर्म संभाव की सीख देते थे।

7. ‘बिस्मिल्ला खाँ का मतलब- बिस्मिल्ला खाँ की शहनाई।’ एक कलाकार के रूप में बिस्मिल्ला खाँ का परिचय पाठ के
आधार पर दें।

उत्तर ⇒ बिस्मिल्ला खाँ साहब को प्रसिद्धि शहनाई की वजह से मिली। शहनाई में जब वह फूंक मारते थे तो चारो तरफ जादू बिखर जाता था। कहने का अर्थ है कि बिस्मिल्ला खाँ और शहनाई दोनों एक दूसरे के पूरक बन गए। इसलिए बिस्मिल्ला खाँ का मतलब उनकी शहनाई और शहनाई का मतलब बिस्मिल्ला खाँ था।खाँ साहब को इतनी प्रसिद्धि मिली फिर भी वे अपने आपको अधूरा ही मानते थे। वे अपनी कला के प्रति पूर्ण समर्पित श्रेष्ठ कलाकार हैं।

8. आशय स्पष्ट करें।
(क). फटा सुन न बख्शे। लुंगिया का क्या है, आज फटी है, तो कल सिल जाएगी।

उत्तर ⇒ प्रस्तुत पंक्ति में गुण और आवरण पर विचार किया गया है। मनुष्य का गुण ही उसकी सबसे बड़ी पहचान होती है। गुणी व्यक्ति के लिए किसी श्रृंगार या आवरण की आवश्यकता नहीं होती है। इसलिए जब बिस्मिल्ला खाँ की शिष्या ने फटी हुई लुंगी पहनने के लिए मना किया तब ईश्वर से प्रार्थना की कि फटा हुआ सुर किसी को न बक्शे। क्योंकि लुंगी फटी बदली जा सकती है लेकिन सुर को बदला नहीं जा सकता।

नौबतखाने में इबादत सब्जेक्टिव क्वेश्चन

(ख). काशी संस्कृति की पाठशाला है।

उत्तर ⇒ इस पंक्ति का आशय है कि यहाँ पवित्र स्थल, संगीतज्ञ
विद्याधारी और बिस्मिल्ला खाँ सब है। यहाँ भक्ति और संगीत का संगम देख सकते हैं। भारतीय संस्कृत के साक्षात दर्शन इस काशी नगरी में होते हैं। इसलिए लेखक ने कहा कि काशी संस्कृति की पाठशाला है।

9. बिस्मिल्ला खाँ के बचपन का वर्णन पाठ के आधार पर दें।

उत्तर ⇒ उस्ताद बिस्मिल्ला खाँ का जन्म डुमराँव (बिहार) में हुआ था लेकिन शिक्षा-दीक्षा काशी में हुई थी। इनके बचपन का नाम कमरूद्दीन था। बिस्मिल्ला खाँ की कई पीढ़ियाँ संगीत से जुड़ी थीं। इनके दादा, परदादा और नाना-मामा ने संगीत में प्रसिद्धि पाई। वह नित्य बाला जी मंदिर में रियाज़ करने जाते थे। रास्ते में रसूलन बाई और बूतलनबाई का गाना सुनते हुए जाते थे। बचपन से ही कचौड़ी, मलाई बर्फ और फिल्मों के शौकीन थे।

Class 10th Hindi Subjective Question 2023

Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( गद्यखंड )
1. श्रम विभाजन और जाति प्रथा
2. विष के दाँत
3. भारत से हम क्या सीखें
4. नाखून क्यों बढ़ते हैं
5. नागरी लिपि
6. बहादुर
7. परंपरा का मूल्यांकन
8. जित-जित मैं निरखत हूँ
9. आवियों
10. मछली
11. नौबतखाने में इबादत
12. शिक्षा और संस्कृति
Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( काव्यखंड )
1. राम बिनु बिरथे जगि जनमा
2. प्रेम-अयनि श्री राधिका
3. अति सूधो सनेह को मारग है
4. स्वदेशी
5. भारतमाता
6. जनतंत्र का जन्म
7. हिरोशिमा
8. एक वृक्ष की हत्या
9. हमारी नींद
10. अक्षर-ज्ञान
11. लौटकर आऊंगा फिर
12.  मेरे बिना तुम प्रभु

Leave a Reply

Your email address will not be published.