वर्णिका भाग-2 पाठ -1 दही वाली मंगम्मा SUBJECTIVE QUESTION, दही वाली मंगम्मा सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2023, Dahi Wali Mangamma Subjective Question Answer, Class 10th Hindi Varnika Bhag-2 Subjective Question Bihar Board Matric Exam 2023, BSEB Class 10th हिंदी वर्णिका भाग-2 ( दही वाली मंगम्मा ) Subjective Question 2023, दही वाली मंगम्मा का महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन, class 10th Hindi Varnika bhag 2 ka Subjective, Class 10th Hindi model paper and question bank 2023, Pragatishil Classes, Class 10th Hindi Dahi Wali Mangamma Subjective Question Answer, दही वाली मंगम्मा सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर class 10, दही वाली मंगम्मा सब्जेक्टिव क्वेश्चन, कक्षा 10 वी हिंदी दही वाली मंगम्मा सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर 2023,class 10th दही वाली मंगम्मा ka Subjective question answer 2023, दही वाली मंगम्मा ka Subjective question answer class 10 2023, कक्षा 10 दही वाली मंगम्मा का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर, Dahi Wali Mangamma Subjective question answer 2023
Class 10th Hindi Subjective Question

कक्षा 10 हिंदी (वर्णिका भाग 2 ) पाठ -1 दही वाली मंगम्मा Subjective Question 2023 || Dahi Wali Mangamma Subjective Question Answer 2023

कक्षा 10 हिंदी वर्णिका भाग 2 Subjective Question : दही वाली मंगग्मा (Dahi Wali Mangamma Objective Question Answer) For Board Exam 2022 :- दोस्तों यहां पर Bihar Board Class 10th  हिंदी वर्णिका भाग 2 पाठ -1 दही वाली मंगम्मा का महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन नीचे दिया गया है तथा दिए गए प्रश्नों को अच्छी तरह से एक बार शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें ।

Join Telegram

दही वाली मंगम्मा Subjective Question Answer 2023

1. मंगम्मा का अपनी बहू के साथ किस बात को लेकर विवाद था ?

उत्तर ⇒ एक दिन बहू ने किसी बात पर पोते की पीट दिया। इस पर मंगम्मा ने कहा क्यों री राक्षसी, इस छोटे से बच्चे को क्यों पीट रही है। इस पर बहू ने मंगम्मा को खरी-खोटी सुना दिया। इस बात को लेकर मंगम्मा का बहू के साथ विवाद हो गया।

2. रंगप्पा कौन था और वह मंगम्मा से क्या चाहता था ?

उत्तर ⇒ रंगप्पा मंगम्मा के गाँव का ही आवारा और जुआरी था। वह मंगम्मा का ही उम्र का था और शौकीन तबियत का था। वह मंगम्मा से उधार पैसे चाहता था।

3. बहू ने सास को मनाने के लिए कौन-सा तरीका अपनाया ?

उत्तर ⇒ बहू ने मंगम्मा को मनाने के लिए एक षड्यंत्र रचा, जिसके तहत उसने अपने बेटे को मंगम्मा के पास भेज दिया। बेटा दादी (मंगम्मा) के पास जिद करके रहने लगा। फिर एक दिन मंगम्मा की बहू और बेटा आए और कहा- ‘उस दिन हमसे गलती हो गई। यह कहकर मांफी मांग कर मना लिया।’

Class 10th Hindi Dahi Wali Mangamma Subjective Question Answer

4. इस कहानी का कथावाचक कौन है? उसका परिचय दीजिए।

उत्तर ⇒ प्रस्तुत कहानी का कथावाचक स्वयं श्री निवास जी है। कहानी अन्य पुरूष शैली में रचित है। जिसमें लेखक स्वयं पात्र के रूप में मौजूद है। कथा में कथावाचक महिला पात्र माँ जी के रूप में है। मंगम्मा माँ जी के घर हर रोज़ आती है। एक बार दही देकर चली जाती है और जब सारा दही बेंचकर गाँव की ओर जाती है तो कथावाचक (माँ जी) के घर आकर पान-सुपारी खाकर चली जाती है। कथावाचक स्वयं मंगम्मा से उसका हाल-चाल पूँछती हैं। कुल मिलाकर कथावाचक का संक्षिप्त परिचय इतना है कि वह एक संवेदनशील, सहज और सरल माँ जी के रूप में कथा में मौजूद हैं।

5. मंगम्मा का चरित्र-चित्रण कीजिए ।

उत्तर ⇒ इस कहानी की केन्द्रीय पात्र मंगम्मा है जो विधवा है। वह दही बेचकर आमदनी को बचाकर रखती है। उस बचत से बहू के लिए गहने बनवा देती है लेकिन अपने लिए कुछ नहीं खर्च करती है। वह एक सचरित्र, व्यवहार कुशल, उदार और खुले दिल की स्त्री है। अपने परिवार का पोषण करने और सुख के लिए ही दूर दराज शहर में दही बेचने जाती है। अतः वह जिम्मेदार और परिश्रमी भी है। रंगप्पा के झांसे में नहीं आती है और बहू-बेटे के कहने पर पुनः एक साथ रहने लगती है। इस तरह वह एक साहसी और समझदार महिला भी है।

कक्षा 10 वी हिंदी दही वाली मंगम्मा सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर 2023

6. कहानी का सारांश प्रस्तुत कीजिए ।

उत्तर ⇒मंगमा अवलूर के समीप वेंकटपुर के रहनेवाली थी | और रोज दही बेचने बेंगलूर आती थी। मंगम्मा का पति नहीं था | और बेटा-बहू से गृह-कलह के कारण अलग हो गई। प्रत्यक्ष में तो झगड़े का कारण पोते की पिटाई थी | किन्तु मूल रूप में सास-बहू की अधिकार सम्बन्धी ईष्र्या थी। औरत को अकेली जानकर कुछ अवांछित तत्व के लोग उसके धन और प्रतिष्ठा पर भी आँखें उठाते । रंगप्पा भी ऐसा ही किया| जिसे बहू की पैनी निगाहों ने ताड़ लिया। उसने पोते को उसके पास भेजने का एक नाटक किया। अब मंगम्मा पोत के लिए मिठाई भी बाजार से खरीदकर ले जाने लगी ।                                                                                        एक दिन कौवे ने उसके माथे से मिठाई का दोना ले उडा। अंधविश्वास के कारण मंगम्मा भयभीत हो उठी। | बहू के द्वारा नाटकीय ढंग से पोते को दादी के पास भेजने का बहू का मंत्र – बड़ा कारगर हुआ । दूरी बढ़ने से भी प्रेम बढ़ता है। मानसिक तनाव घटता है। हुआ भी ऐसा ही । मंगम्मा को भी बहू में सौहार्द| बेटे और पोते में स्नेह नजर आने लगी। बड़े-बूढों ने भी समझाया। बहू ने मंगम्मा का काम अपने जिम्मे ले लिया। बहू ने बड़ी कुशलता से पुन: परिवार में शान्ति स्थापित कर लिया और पूर्ववत रहने लगी।


Class 10th Hindi Subjective Question 2023

S.N वर्णिका भाग 2 Subjective Question Answer
1. दही वाली मंगम्मा
2. ढहते विश्वास
3. माँ – कहानी
4. नगर कहानी
5. धरती कब तक घूमेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.