बहादुर Subjective Question Answer 2023, बहादुर Subjective Question Answer, Class 10th Hindi Subjective Question Answer, बहादुर का सारांश, बहादुर ncert solutions, बहादुर प्रश्न उत्तर class 10, बहादुर प्रश्न उत्तर class 10 pdf, बहादुर Subjective question, सब्जेक्टिव क्वेश्चन बहादुर, बहादुर प्रश्न उत्तर, बहादुर ka question answer, बहादुर सब्जेक्टिव क्वेश्चन, बहादुर SUBJECTIVE, कक्षा 10 वी हिंदी बहादुर सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर 2023, class 10th बहादुर ka Subjective question answer 2023, Matric exam 2023 ka Hindi subjective question answer, बहादुर ka Subjective question answer class 10 2023, कक्षा 10 बहादुर का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर 2023, bahadur Subjective question answer 2023, bahadur prshn uttr 2023, bahadur  subjective question, bahadur ka subjective question answer 2023
Class 10th Hindi Subjective Question

पाठ-6 बहादुर ( गोधूलि भाग-2 गध खंड ) Subjective Question 2023 || Bahadur Subjective Question Answer 2023

दोस्तों यहां पर आपको कक्षा दसवीं हिंदी गोधूलि भाग 2 बिहार बोर्ड के लिए बहादुर पाठ का सब्जेक्टिव प्रश्न दिया गया है। जो मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है ।और यहाँ पर Bahadur का Objective Question Answer दिया गया है। जिसे आप आसानी से पढ़ सकते है

बहादुर Subjective Question Answer 2023

1. लेखक को क्यों लगता है कि जैसे उस पर एक भारी दायित्व आ गया हो ?

उत्तर ⇒ घर में एक नौकर रखने की अत्यन्त आवश्यकता थी इसलिए लेखक को लगता है कि जैसे उस पर एक भारी दायित्व आ गया हो।

Join Telegram

2. अपने शब्दों में पहली बार दिखे’ बहादुर का वर्णन कीजिए।

उत्तर ⇒ बहादुर बारह-तेरह वर्ष की उम्र का लड़का था। उसका शरीर ठिगना, रंग गोरा और मुंह चपटा था। वह सफेद नेकर, आधी बाँह की सफेद कमीज और भूरे रंग का पुराना जूता पहने था। उसके गले में स्काउटों की तरह सफेद रूमाल बँधा था।

3. लेखक को क्यों लगता है कि नौकर रखना बहुत जरूरी हो गया था ?

उत्तर ⇒ लेखक के सभी रिश्तेदारों के यहाँ नौकर थे। लेखक की भाभियाँ नौकरों के होने की वजह से आराम में रहती थीं जबकि लेखक की पत्नी दिन-रात घर का काम करती थी। इधर पत्नी भी नौकर रखने के लिए बार-बार कह रही थी। इसलिए लेखक को लगता है कि नौकर रखना बहुत जरूरी हो गया था।

4. साले साहब से लेखक को कौन-सा किस्सा असाधारण विस्तार से सुनना पड़ा ?

उत्तर ⇒ साले साहब से लेखक को बहादुर का अपने घर से भागना, उसकी माँ के द्वारा पिटाई किया जाना इत्यादि असाधारण किस्सा विस्तार से सुनना पड़ा।

bahadur ka subjective question answer 2023

5. बहादुर अपने घर से क्यों भाग गया था ?

उत्तर ⇒ बहादुर ने एक दिन भैंस को पीट दिया, जिसके लिए उसकी माँ ने उसे डंडे से पीटा। बहादुर का मन माँ से फट गया, इसलिए अपने घर से भाग गया था।

6. बहादुर के नाम से ‘दिल’ शब्द क्यों उड़ा दिया गया ? विचार करें।

उत्तर ⇒ बोलने और संबोधन की सहुलियत को ध्यान में रखकर संभवतः बहादुर के नाम से ‘दिल’ शब्द उड़ा दिया गया।

7. व्याख्या करें –
(क). उसकी हँसी बड़ी कोमल और मीठी थी, जैसे फूल की पंखुड़ियाँ बिखर गई हों।

सन्दर्भः प्रस्तुत गद्यांश हमारी पाठ्य-पुस्तक गोधूलि भाग-2 के ‘बहादुर’ नामक पाठ से लिया गया है। इसके लेखक अमरकांत
जी हैं।

नोट : इस पाठ की सभी व्याख्याओं का सन्दर्भ यही रहेगा।

प्रसंग : इस पंक्ति में लेखक ने बहादुर के सहज स्वभाव और मनोवृत्तियों का वर्णन किया है।

व्याख्या : बहादुर में बालपन अभी शेष है। उसमें कोमलता, सहजता और सरलता है। लेखक को वह दिनभर की मामूली घटनाओं को बताता है और मुस्कराने लगता है। उस उमय लेखक को उसकी हँसी बड़ी कोमल और मीठी लगती है। मानों फूल की पंखुड़ियाँ बिखर गयी हों।

(ख). पर अब बहादुर से भूल-गलतियाँ अधिक होने लगी थीं।

सन्दर्भः प्रश्न 7 के (क) में देखें।

प्रसंग : इस गद्यांश में लेखक ने बहादुर से होने वाली गलतियों के कारणों पर प्रकाश डाला है।

व्याख्या : घर में अब बहादुर के प्रति व्यवहार में परिवर्तन आया है। उसकी छोटी सी गलती पर पिटाई होती या डाट दिया जाता था। लेखक का बेटा तो गली-गलौज और मारपीट अक्सर करता था। इसलिए काम में मन न लगने की वजह से और गलतियाँ करने लगा।

(ग). अगर वह कुछ चुराकर ले गया होता तो संतोष हो जाता।

सन्दर्भः प्रश्न 7 के (क) में देखें।

प्रसंगः प्रस्तुत पंक्ति में बहादुर के द्वारा सेवा करना और कुछ न ले जाने पर लेखक ने प्रकाश डाला।

व्याख्या : बहादुर लेखक के परिवार का सब काम करता था। बर्तन मांजना, साफ-सफाई से लेकर सभी काम करता था। सब तरह परिवार को आराम देता था। सबकुछ देने के बावजूद घर से कुछ नहीं ले गया। अपना सामान और तनख्वा तक छोड़ गया।

(घ). यदि मैं न मारता, तो शायद वह न जाता।

सन्दर्भः प्रश्न 7 के (क) में देखें।

प्रसंग : प्रस्तुत पंक्तियों में लेखक के पश्चाताप का वर्णन है।

व्याख्या : बहादुर की वजह से परिवार बड़ा आराम में था। एक दिन जब बहादुर घर छोड़कर चला गया तो समस्त परिवार दुखी हो गया। ऐसे में लेखक अफसोस करते हुए विचार करता है कि अगर परिवार वालों ने और मैंने पीटा न होता तो बहादुर कभी नहीं जाता।

बहादुर सब्जेक्टिव क्वेश्चन / बहादुर प्रश्न उत्तर class 10 pdf

8. काम-धाम के बाद रात को अपने बिस्तर पर गये बहादुर का लेखक किन शब्दों में चित्रण करता है ? चित्र का आशय स्पष्ट करें।

उत्तर ⇒ काम-काज के बाद रात में बहादुर जब अपने बिस्तर पर जाता है तो उस समय का लेखक मनोरंजनपूर्ण चित्रण करता है। लेखक कहता है कि टूटी हुई बँसखट पर बिस्तर पर बैठ जाता जेब से गोल नेपाली टोपी निकालकर पहन लेता था। फिर छोटे से आईने में बंदर की तरह अपना मुँह देखता था। वह बहुत ही प्रसन्न होता था। फिर कुछ गोलियाँ, पुराने ताश की गड्डी, खूबसूरत पत्थर के टुकड़े, ब्लेड, कागज की नावें बिस्तर पर सजा देता था। इन चीजों से खेलने के बाद धीमे-धीमे स्वर में गुनगुनाने लगता था। बहादुर का चित्रण करने का लेखक का आशय है- उसके बाल स्वभाव और अकेलेपन को बताना।

9. बहादुर के आने से लेखक के घर और परिवार के सदस्यों पर कैसा प्रभाव पड़ा ?

उत्तर ⇒ बहादुर के आने से लेखक के घर और परिवार के सदस्यों पर अत्यन्त प्रभाव पड़ा था। परिवार के लोग अपने को ऊँचा महसूस करने लगे और अपनी शान-शौकत पर गर्व करने लगे। लेखक मोहल्ले के लोगों को तुच्छ समझ कर सीधे मुँह बात नहीं करता था। लेखक कई बार पड़ोसियों को सुना चुका था कि जिसके पास कलेजा हो, वही नौकर रख सकता . है। इस तरह घर के सभी लोग अभिमानी और कामचोर हो गए थे।

10. किन कारणों से बहादुर ने एक दिन लेखक का घर छोड़ दिया ?

उत्तर ⇒ बहादुर एक मेहनती, ईमानदार और स्वाभिमानी लड़का था। उसे आरंभ में परिवार में प्रेम, स्नेह मिला, परंतु फिर छोटी-छोटी बातों पर मारा-पीटा जाने लगा। एक गलती पर कई-कई बार पीटा जाता था। जल्दी ही उसका हृदय विरक्त हो गया। एक दिन तो चोरी का झूठा आरोप भी लगा। इन सभी कारणों से तंग आकर बहादुर ने एक दिन लेखक का घर छोड़ दिया।

11. बहादुर पर ही चोरी का आरोप क्यों लगाया जाता है और इस आरोप का क्या असर पड़ता है ?

उत्तर ⇒ लोग नौकरों पर विश्वास नहीं करते हैं। घर में कुछ भी गायब हो जाने पर नौकर ही संदेह के घेरे में आते हैं। बहादुर भी लेखक के परिवार में नौकर ही था। इसलिए बहादुर पर चोरी का आरोप लगाया गया। इस झूठे आरोप के बाद बहादुर काफी मार खाने लगा। घर के लोग कुत्तों की तरह दौड़ाते और किशोर उसके पीछे ही पड़ गया था। वह उदास रहने लगा और लापरवाही करने लगा।

12. घर आए रिश्तेदारों ने कैसा प्रपंच रचा और उसका क्या परिणाम निकला ?

उत्तर ⇒ घर आए रिश्तेदारों ने चोरी का झूठा प्रपंच रचा और आरोप बहादुर पर लगा दिया। उसका परिणाम यह निकला कि रिश्तेदार को लेखक के घर में मिठाई लाने और लेखक के बच्चों को पैसे नहीं देने पड़े।

बहादुर ka Subjective question answer class 10 2023

13. बहादुर के चले जाने पर सबको पछतावा क्यों होता है ?

उत्तर ⇒ बहादुर के चले जाने पर सबको पछतावा इसलिए हो रहा था क्योंकि बहादुर सच्चा और अच्छा नौकर था। उसके जैसा दूसरा कोई नौकर नहीं मिल सकता था। जाने से पहले अपनी तनख्वा और सामान नहीं ले गया था।

14. बहादुर, किशोर, निर्मला और कथावाचक का चरित्र चित्रण करें।

उत्तर ⇒ चरित्र-चित्रण

बहादुर : एक सीधा-सादा ठिगने कद का नेपाली लड़का बहादुर ईमानदार और मेहनती है। हँसमुख प्रवृत्ति का बालक बहादुर सभी को खुश रखने का प्रयास करता है। किशोर : किशोर कथावाचक का बड़ा लड़का है, जिसका स्वभाव कठोर है। उसमें अभिमान और ऊँच-नीच की भावना है। वह अपने को श्रेष्ठ और बहादुर को हेय समझता है। इसके साथ ही सज्जनता की उसमें भारी कमी है। कथावाचकः कथावाचक मध्यवर्गीय मानसिकता का प्रतिनिधि पात्र है। वह ईर्ष्यालु और आत्मप्रशंसा वाला व्यक्ति है। उसमें भी ऊँच-नीच की भावना है। वह दृढ़ विचारों वाला, सही निर्णय करने वाला व्यक्ति नहीं है। कुल मिलाकर कथावाचक का चरित्र में विसंगतियाँ बहुत हैं। निर्मला: निर्मला मध्यवर्गीय घरेलू स्त्री है। उसमें भी शान-शौकत से रहने की इच्छा है। वह काँन की कच्ची है। ताने मारना और अपनी प्रशंसा करना उसकी प्रवृत्ति है। वह परिश्रम से बचने वाली कामचोर स्त्री है।

15. निर्मला को बहादुर के चले जाने पर किस बात का अफसोस हुआ ?

उत्तर ⇒ निर्मला को बहादर के चले जाने पर इस बात का अफसोस होता है कि वह कुछ भी नहीं ले गया। अपने कपड़े जूते और दूसरा सामान, यहाँ तक कि अपनी तनख्वा भी नहीं ले गया।

16. कहानी छोटा मुँह बड़ी बात कहती है। इस दृष्टि से ‘बहादुर’ कहानी पर विचार करें।

उत्तर ⇒ ‘बहादुर’ कहानी एक गोरखा लड़के और मध्यवर्गीय परिवार पर आधारित है। कहानी में मध्यवर्गीय परिवार के हालात को बयाँ किया गया है। मध्यवर्ग. उच्च वर्ग की नकल करता है। वह भी उन्हीं की तरह जीवन जीना चाहता है। परंतु सीमित साधनों की वजह से कुढ़ता है। नौकर के प्रति व्यवहार को भी कहानी व्यक्त करती है। कहानी में वर्ग अंतर को भी स्पष्ट किया गया है। लेखक का परिवार किस तरह अभिमान में चूर रहता है और छोटे वर्ग के ईमानदार नौकर को प्रताड़ित करता है। कहानी हमारे समाज की विसंगतियों को स्पष्ट रूप से उजागर करती है। इसलिए हम कह सकते हैं कि ‘बहादुर’ कहानी छोटा मुँह बड़ी बात कहती है।

bahadur Subjective question answer 2023

17. कहानी के शीर्षक की सार्थकता स्पष्ट कीजिए। लेखक ने इसका शीर्षक ‘नौकर’ क्यों नहीं रखा ?

उत्तर ⇒ कहानी का शीर्षक ‘बहादुर’ कहानी के एक पात्र के नाम पर है। कहानी का पात्र बहादुर नाम और काम दोनों में बहादुर है। कथा एक मध्यवर्गीय परिवार की है, परंतु केन्द्रीय भूमिका में बहादुर ही है। कथा का तानाबाना बहादुर के आस-पास ही बुना गया है, इसलिए पात्र के नाम पर ही कहानी का शीर्षक सार्थक सिद्ध होता है।
नौकर शब्द प्रायः सभी नौकरों के लिए होता है। कहानी में बहादुर नौकर अवश्य था, परंतु वह नौकरों से अलग और विशिष्ट था। इसलिए ही कथाकार ने विचार किया कि नौकर शब्द से उसका बोध होता है जो पैसे के लिए काम करता है। जबकि बहादुर तो प्रेम और स्नेह के लिए नौकरी करता है, इसलिए वह अलग है। इसी कारण लेखक ने इसका शीर्षक ‘नौकर’ नहीं रखा।

18. कहानी का सारांश प्रस्तुत करें।

उत्तर ⇒ अमरकांत जी द्वारा लिखित कहानी बहादुर एक मध्यवर्गीय परिवार में नौकर के साथ परिजनों द्वारा किए गए अत्यधिक कटु व्यवहार की कहानी है। लेखक ने स्वयं को कहानी का पात्र बताते हुए कहानी की आत्मकथात्मक रूप में रचना की है। अपने से संपन्न रिश्तेदारों के घर नौकर द्वारा जुटाई सुविधा एवं शान को देखकर लेखक की पत्नी निर्मला स्वयं भी एक नौकर रखना चाहती हैं। बहादुर नेपाल का 12 से 13 वर्ष का लड़का है जो अपनी मां के दुर्व्यवहार से तंग आकर घर छोड़कर शहर चला आता है और निर्मला के परिवार में नौकरी रख लिया जाता है। निर्मला और उसका परिवार बहादुर के प्रति पहले तो अच्छा व्यवहार करते हैं परंतु धीरे-धीरे कठोरता बरतने लगते हैं। घर का सारा कार्य करता है इसके बावजूद उसके साथ गाली-गलौज से मारपीट तक की नौबत आ जाती है। झूठी चोरी का इल्जाम लगाकर उसे अपमानित किया जाता है और पीटा जाता है। अन्तत: बहादुर घर छोड़कर चला जाता है। परिवार के सभी सदस्य उसे ढूंढते हैं उसके कारण  सब आराम के आदी हो चुके हैं। बहादुर की उपयोगिता देखकर सभी अपना घरेलू कार्य करने से घबराते हैं। बहादुर के घर छोड़कर जाने पर सभी पश्चाताप करते हैं तथा अच्छा व्यवहार करने की सोचते हैं परंतु अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत।

Class 10th Hindi Subjective Question 2023

Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( गद्यखंड )
1. श्रम विभाजन और जाति प्रथा
2. विष के दाँत
3. भारत से हम क्या सीखें
4. नाखून क्यों बढ़ते हैं
5. नागरी लिपि
6. बहादुर
7. परंपरा का मूल्यांकन
8. जित-जित मैं निरखत हूँ
9. आवियों
10. मछली
11. नौबतखाने में इबादत
12. शिक्षा और संस्कृति
Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( काव्यखंड )
1. राम बिनु बिरथे जगि जनमा
2. प्रेम-अयनि श्री राधिका
3. अति सूधो सनेह को मारग है
4. स्वदेशी
5. भारतमाता
6. जनतंत्र का जन्म
7. हिरोशिमा
8. एक वृक्ष की हत्या
9. हमारी नींद
10. अक्षर-ज्ञान
11. लौटकर आऊंगा फिर
12.  मेरे बिना तुम प्रभु

Leave a Reply

Your email address will not be published.