कक्षा 10 हिंदी (गोधूलि भाग 2 काव्य खण्ड) पाठ -3 अति सूधो सनेह को मारग है Subjective Question 2023, Ati sudho sneh ko maarg hai Subjective Question Answer 2023, अति सूधो सनेह को मारग है Subjective Question Answer 2023,अति सूधो सनेह को मारग है Subjective Question Answer,Class 10th Hindi Subjective Question Answer,अति सूधो सनेह को मारग है का सारांश, अति सूधो सनेह को मारग है ncert solutions,अति सूधो सनेह को मारग है सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर class 10,अति सूधो सनेह को मारग है प्रश्न उत्तर class 10 pdf,अति सूधो सनेह को मारग है Subjective question,अति सूधो सनेह को मारग है प्रश्न उत्तर,अति सूधो सनेह को मारग है ka question answer,अति सूधो सनेह को मारग है सब्जेक्टिव क्वेश्चन,कक्षा 10 वी हिंदी अति सूधो सनेह को मारग है सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर 2023,class 10th अति सूधो सनेह को मारग है ka Subjective question answer 2023,अति सूधो सनेह को मारग है ka Subjective question answer class 10 2023,कक्षा 10 अति सूधो सनेह को मारग है का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर 2023,Ati sudho sneh ko maarg hai Subjective question answer 2023,Ati sudho sneh ko maarg hai prshn uttr 2023,Ati sudho sneh ko maarg hai  subjective question,Ati sudho sneh ko maarg hai ka subjective question answer 2023
Class 10th Hindi Subjective Question

कक्षा 10 हिंदी (गोधूलि भाग 2 काव्य खण्ड) पाठ -3 अति सूधो सनेह को मारग है Subjective Question 2023 || Ati sudho sneh ko maarg hai Subjective Question Answer 2023

अगर आप कक्षा 10 के छात्र हैं और मैट्रिक परीक्षा 2023 की तैयारी कर रहे हैं तो यहां पर आपको कक्षा 10 हिंदी काव्य खंड का अति सूधो सनेह को मारग है का सब्जेक्टिव क्वेश्चन नीचे दिया गया है। जो कि आपके मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसलिए शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें। और आपको इस वेबसाइट पर अति सूधो सनेह को मारग है Objective Question भी पढने के लिए मिल जायेगा।

Join Telegram
Bihar Board All Subject Pdf Download Class Xth & 12th
Whats'App Group Click Here
Join Telegram Click Here
Bihar Board All Subject Pdf Download Class Xth
Whats’App Group Click Here
Join Telegram Click Here

अति सूधो सनेह को मारग है Subjective Question Answer 2023

1. कवि प्रेममार्ग को ‘अति सूधो’ क्यों कहता है ? इस मार्ग की विशेषता क्या है ?

उत्तर ⇒ कवि ने प्रेममार्ग को ‘अति सूधो’ इसलिए कहा क्योंकि यह सीधा है इस पर चलने के लिए किसी चतुराई या छल की आवश्यकता नहीं है। इस मार्ग की विशेषता यह है कि इस मार्ग पर वही चल सकता है, जिसका हृदय निर्मल, कपट और छल से रहित हो।

2. मन लेह पै देहु छटाँक नहीं’ से कवि का क्या अभिप्राय है ?

उत्तर ⇒ ‘मन लेह पै देह छटाँक नहीं’ से कवि का अभिप्राय है कि प्रेमी अपनी प्रेमिका को पाने के लिए अपना सबकुछ त्यागकर अपने-आपको समर्पित कर देता है, फिर भी प्रेमिका न तो प्रेम को स्वीकार करती है और न ही अपनी प्रतिक्रिया देती है। प्रेम के मार्ग में ऐसा करना उचित नहीं है।

3. द्वितीय छंद किसे संबोधित है और क्यों ?

उत्तर ⇒ द्वितीय छंद बादलों को संबोधित है क्योंकि मेघ कल्याणकारी होता है, वह कल्याण और परोपकार के लिए बादल का रूप धारण करता है और प्रकृति को जीवन देता है। इसलिए कवि अपना कल्याण भी बादलों से चाहता है।

4. परहित के लिए ही देह कौन धारण करता है ? स्पष्ट कीजिए ।

उत्तर ⇒ परहित के लिए मेघ देह धारण करता है। बादल अलग-अलग रूप लेकर वर्षा करके संसार के प्राणियों को जीवन देता है। वह संसार को जीवन तो देता है, लेकिन बदले में कुछ भी नहीं लेता है।

Ati sudho sneh ko maarg hai ka subjective question answer 2023

5. कवि कहाँ अपने आँसुओं को पहुँचाना चाहता है और क्यों ?

उत्तर ⇒ कवि अपने आँसुओं को अपनी प्रेमिका सुजान के आँगन में पहुँचाना चाहता है क्योंकि वह इन आँसुओं के माध्यम से अपनी पीड़ा को सुजान के सामने प्रस्तुत करना चाहता है। कवि का मानना है कि जब उसकी प्रेममय वेदना से सुजान अवगत होगी तब ही उसे प्रेम का अनुभव होगा।

6. व्याख्या करें –

(क) यहाँ एक तें दूसरौ आँक नहीं

उत्तर ⇒ संदर्भ : प्रस्तुत पंक्ति हमारी पाठ्य-पुस्तक ‘गोधूलि’ के
काव्यखण्ड से अवतरित है, जिसके रचयिता घनानंद जी हैं।

नोट : इस पाठ के सभी व्याख्याओं का सन्दर्भ यही रहेगा।

प्रसंग : इस पंक्ति में कवि ने प्रेम मार्ग की विश्वस्ता पर प्रकाश डाला है।

व्याख्याः कवि कहता है कि प्रेम-मार्ग तो अत्यन्त सीधा और सरल होता है। इस मार्ग पर चलने वालों के हृदय में 2. छल-कपट अविश्वास नहीं होता है। इसलिए प्रेम में किसी भी तरह की शर्त नहीं होती है। प्रेम का आधार विश्वास है।

(ख) कछु मेरियौ पीर हिएँ परसौ

उत्तर ⇒ सन्दर्भः प्रश्न 6 के (क) में देखें ।

प्रसंगः प्रस्तुत पंक्ति में कवि ने अपनी वियोग-व्यथा का वर्णन करते हुए सुजान को पाने की कामना की है।

व्याख्या : कवि घनानंद मेघ की अन्योक्ति के माध्यम से परोपकारी लोगों की विशेषता पर प्रकश डालते हैं और कामना करते हैं कि बादलों की तरह मुझ पर भी परोपकार करो ताकि मैं अपनी प्रियतमा को पा सकूँ।

class 10th अति सूधो सनेह को मारग है ka Subjective question answer 2023

(ग) संकेत अति सूधो ……………… बाँक नहीं।

उत्तर ⇒ संदर्भ: प्रश्न 6 के (क) में देखें।

प्रसंग : कवि ने इस पंक्ति में प्रेम-मार्ग की विशेषता पर प्रकाश डाला है

व्याख्या : घनानंद कहते हैं कि प्रेम एक कोमल भाव है, जिसका मार्ग अत्यन्त सीधा है। इस मार्ग पर चलने वाले को चातुर्य की आवश्यकता नहीं है। इस मार्ग में कोई बांकपन (टेढ़ापन) भी नहीं है, इसलिए इस पर बिना छल के चला जाता है।

(घ) संकेत : कबहूँ वा बिसासी ………….लै बरसौ।

उत्तर ⇒ संदर्भ: प्रश्न 6 के (क) में देखें।

प्रसंगः प्रस्तुत पंक्ति में कवि ने यह आशा व्यक्त की है कि एक दिन अवश्य वह सुजान के हृदय को निष्ठुर से कोमल बना देगा।

व्याख्याः कवि कहता है कि कभी तो ऐसा अवसर आएगा जब मैं बादल के समान उसके आँगन में अपनी अश्रु-वर्षा करूँगा और वह मेरी व्याकुलता और वेदना को समझेगी। कहने का अर्थ यह है कि एक दिन अवश्य ऐसा होगा जब सुजान के हृदय में भी मेरे प्रति प्रेम होगा।

Class 10th Hindi Subjective Question 2023

Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( गद्यखंड )
1. श्रम विभाजन और जाति प्रथा
2. विष के दाँत
3. भारत से हम क्या सीखें
4. नाखून क्यों बढ़ते हैं
5. नागरी लिपि
6. बहादुर
7. परंपरा का मूल्यांकन
8. जित-जित मैं निरखत हूँ
9. आवियों
10. मछली
11. नौबतखाने में इबादत
12. शिक्षा और संस्कृति
Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( काव्यखंड )
1. राम बिनु बिरथे जगि जनमा
2. प्रेम-अयनि श्री राधिका
3. अति सूधो सनेह को मारग है
4. स्वदेशी
5. भारतमाता
6. जनतंत्र का जन्म
7. हिरोशिमा
8. एक वृक्ष की हत्या
9. हमारी नींद
10. अक्षर-ज्ञान
11. लौटकर आऊंगा फिर
12.  मेरे बिना तुम प्रभु
Bihar Board All Subject Pdf Download Class Xth
Whats’App Group Click Here
Join Telegram Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.