अक्षर-ज्ञान Subjective Question Answer 2023,अक्षर-ज्ञान Subjective Question Answer,Class 10th Hindi Subjective Question Answer,अक्षर-ज्ञान का सारांश, अक्षर-ज्ञान ncert solutions,अक्षर-ज्ञान सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर class 10,अक्षर-ज्ञान प्रश्न उत्तर class 10 pdf,अक्षर-ज्ञान Subjective question,अक्षर-ज्ञान प्रश्न उत्तर,अक्षर-ज्ञान ka question answer,अक्षर-ज्ञान सब्जेक्टिव क्वेश्चन,कक्षा 10 वी हिंदी अक्षर-ज्ञान सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर 2023,class 10th अक्षर-ज्ञान ka Subjective question answer 2023,अक्षर-ज्ञान ka Subjective question answer class 10 2023,कक्षा 10 अक्षर-ज्ञान का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर 2023,Akshar-Gyaan Subjective question answer 2023,Akshar-Gyaan prshn uttr 2023,Akshar-Gyaan  subjective question,Akshar-Gyaan ka subjective question answer 2023
Class 10th Hindi Subjective Question

कक्षा 10 हिंदी (गोधूलि भाग 2 काव्य खण्ड) पाठ -10 अक्षर-ज्ञान Subjective Question 2023 || Akshar-Gyaan Subjective Question Answer 2023

अगर आप कक्षा 10 के छात्र हैं और मैट्रिक परीक्षा 2023 की तैयारी कर रहे हैं तो यहां पर आपको कक्षा 10 हिंदी काव्य खंड का अक्षर-ज्ञान का सब्जेक्टिव क्वेश्चन नीचे दिया गया है। जो कि आपके मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसलिए शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें। और आपको इस वेबसाइट पर अक्षर-ज्ञान Objective Question भी पढने के लिए मिल जायेगा।

Join Telegram

अक्षर-ज्ञान Subjective Question Answer 2023

1. कविता में तीन उपस्थितियाँ हैं। स्पष्ट करें कि वे कौन-कौन सी हैं ?

उत्तर ⇒ कविता में जीवन को तीन भागों में बाँटकर उसके-सार को वर्णित किया गया है। पहली उपस्थिति में माँ शिशु को अक्षर-ज्ञान देने का प्रयास करती है। दूसरी उपस्थिति में जीवन का उतार-चढ़ाव है। तीसरी उपस्थिति में सृष्टि की विकास-कथा है।

2. कविता में ‘क’ का विवरण स्पष्ट कीजिए ।

उत्तर ⇒ कविता में ‘क’ का विवरण देते हुए कवयित्री ने कहा कि व्यंजनों में यह पहला वर्ण है। ‘क’ वर्ण का उच्चारण कंठ से होता है। इसलिए बच्चों को इसका उच्चारण करने में कठिनाई अनुभव होती है। ‘क’ कबूतर की तरह फुदक जाता है अर्थात बच्चे इसका साफ उच्चारण नहीं कर पाते हैं।

3. खालिस बेचैनी किसकी है ? बेचैनी का क्या अभिप्राय है ?

उत्तर ⇒ खालिस बेचैनी खरगोश की है। बेचैनी का अभिप्राय बिना रूके और चैन लिए हुए है।

4. बेटे के लिए ‘ङ’ क्या है और क्यों ?

उत्तर ⇒ बेटे लिए ‘ङ’ ही ड है और ड को वह माँ समझता है। (ड) में बिंदी लगाकर (ङ) बनाया जाता है अर्थात बेटे को माँ की गोद में बैठाया जाता है। 

Akshar-Gyaan ka subjective question answer 2023

5. बेटे के आँसू कब आते हैं और क्यों ?

उत्तर ⇒ माँ-बेटे अर्थात ‘ङ’ का उच्चारण करना बेटे को कठिन लगता है। जब बेटा (ङ) को लिखने की कोशिश करता है तो विफल हो जाता है तब बेटे के आँसू आ जाते हैं। बेटे की पहली विफलता थी इसलिए आँसू आ जाते हैं।

6. कविता के अंत में कवयित्री ‘शायद’ अव्यय का क्या प्रयाग करती हैं? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर ⇒ कविता के अंत में कवयित्री ‘शायद’ अव्यय संभावना प्रकट करने के लिए लगाती है। कवयित्री कहती है कि जब पहली विफलता के बाद दुखी होकर आँसू छलक आते हैं तो उसे सोचने पर विवश होना पड़ता है। इस विफलता के बाद ही मनुष्य और अधिक परिश्रम करता है। कवयित्री कहती है कि इस विफलता से ही चिंतन शक्ति का विकास होता है।

अक्षर-ज्ञान प्रश्न उत्तर

7. कविता किस तरह एक सांत्वना और आशा जगाती है ? विचार करें ।

उत्तर ⇒ कविता एक बच्चे के अक्षर-ज्ञान की विफलता के बाद सफलता के माध्यम से एक सकारात्मक संदेश देती है। कविता में इस ओर संकेत किया गया है कि जब हम प्रथम प्रयास में असफल होते हैं तभी सफलता के नए मार्ग खुलते हैं। कविता का भाव यही है कि असफलता में ही सफलता छिपी होती है।

8. व्याख्या करें ।

“गमले-सा टूटत हुआ उसका ‘ग’
घड़े-सा लुढ़कता हुआ उसका ‘घ”

उत्तर ⇒ प्रस्तुत व्याख्या के लिए संकेत-2 के अंतर्गत व्याख्या देखें।

Class 10th Hindi Subjective Question 2023

Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( गद्यखंड )
1. श्रम विभाजन और जाति प्रथा
2. विष के दाँत
3. भारत से हम क्या सीखें
4. नाखून क्यों बढ़ते हैं
5. नागरी लिपि
6. बहादुर
7. परंपरा का मूल्यांकन
8. जित-जित मैं निरखत हूँ
9. आवियों
10. मछली
11. नौबतखाने में इबादत
12. शिक्षा और संस्कृति
Hindi Subjective Question
S.N गोधूलि भाग 2 ( काव्यखंड )
1. राम बिनु बिरथे जगि जनमा
2. प्रेम-अयनि श्री राधिका
3. अति सूधो सनेह को मारग है
4. स्वदेशी
5. भारतमाता
6. जनतंत्र का जन्म
7. हिरोशिमा
8. एक वृक्ष की हत्या
9. हमारी नींद
10. अक्षर-ज्ञान
11. लौटकर आऊंगा फिर
12.  मेरे बिना तुम प्रभु

Leave a Reply

Your email address will not be published.